Drilling Machine in hindi

ITI Question Bank

Drilling Machine in hindi

 ड्रिलिंग मशीन (Drilling Machine)

Drilling Machine in hindi
Drilling Machine in hindi

ड्रिलिंग (Drilling) – ड्रिलिंग वह विधि है जिससे किसी भी वस्तु में ड्रिल की सहायता से सुराख किया जाता है। 

ड्रिलिंग मशीन (Drilling machine) – धातु चाहे कितनी भी नर्म क्यों न हो, परंतु यह सम्भव नहीं है कि अकेले ड्रिल से ही हम सुराख कर सकें। इसलिए किसी-न-किसी डिवाइस की आवश्यकता पड़ती है जिसमें ड्रिल को मजबूती से पकड़कर घुमाते हुए सुराख किए जा सकें। अतः ऐसी डिवाइस या मशीन को ड्रिल प्रैस (Drill press) या ड्रिलिंग मशीन कहते हैं।

ड्रिलिंग के अतिरिक्त इस मशीन पर रीमिंग (Reaming), टेपिंग (Taping), काऊंटर सिंकिंग (Counter sinking) तथा काउन्टर बोरिंग (Counter Boring) आदि ऑपरेशन भी किए जा सकते हैं।

ये दो प्रकार की होती हैं –

1. पोर्टेबल ड्रिलिंग मशीन (Portable Drilling Machine)

2. फिक्सड ड्रिलिंग मशीन (Fixed Drilling Machine)

1. पोर्टेबल ड्रिलिंग मशीन (Portable Drilling Machine) – कई बार भारी, लम्बे तथा फिक्सड की हुई मशीनों पर कुछ सुराख करने की आवश्यकता पड़ती है, परंतु ऐसे जॉब को मशीन तक ले जाना बहुत कठिन होता है। इसलिए कार्य की स्थिति के अनुसार किसी ड्रिल मशीन को जॉब तक ले जाते हैं। ऐसी ड्रिलिंग मशीन जो आसानी से उठाकर एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जा सके, उसे पोर्टेबल ड्रिलिंग मशीन कहते हैं। यह हाथ अथवा बिजली द्वारा चलाई जाती है। ये निम्नलिखित प्रकार की होती हैं –

पोर्टेबल ड्रिलिंग मशीन के प्रकार (Types of Portable Drilling Machine) 

1. हैंड ड्रिलिंग मशीन (Hand Drilling Machine)

2. ब्रैस्ट ड्रिलिंग मशीन (Breast Drilling Machine)

3. रैचेट ब्रेस ड्रिलिंग मशीन (Ratchet Brace Drilling Machine)

 4. इलैक्ट्रिक हैंड ड्रिलिंग मशीन (Electric Hand Drilling Machine)

 5. न्यूमैटिक हैंड ड्रिलिंग मशीन (Pneumatic Hand Drilling Machine)

1. हैंड ड्रिलिंग मशीन (Hand Drilling Machine)

Drilling Machine in hindi
Hand Drilling Machine

इसमें लगभग 6 मि.मी. साइज तक के ड्रिल को ड्रिल चक्क में पकड़कर हाथ से चलाया जाता है इसका प्रयोग पतली शीट में छोटे साइज का सुराख करने के लिए किया जाता है परन्तु इसका अधिकतर प्रयोग कारपेन्टरी या विद्युतशाला (Electrical shop) में होता है। इसे हम अधिक स्पीड पर नहीं चला सकते। इन्हें बहुत सावधानी से प्रयोग करना चाहिए। (चित्र 1)

2. ब्रैस्ट ड्रिलिंग मशीन (Breast Drilling Machine)

Drilling Machine in hindi

ये भी आकार में हैंड ड्रिलिंग मशीन से मिलती-जुलती है। अन्तर केवल इतना है कि इसमें हैंडल के स्थान पर एक  अर्द्धगोल प्लेट लगी होती है जिसे सुराख करते समय छाती के साथ सटा कर दबाव दिया जाता है। इस मशीन से हैण्ड ड्रिलिंग मशीन की अपेक्षा बड़े साइज के सुराख (12 मि.मी.) कर सकते हैं। इस टाइप की मशीन के साथ दो विशेष बैवल गियर भी आते हैं जिनकी सहायता से मशीन की स्पीड को बढ़ाया जा सकता है। 

3. रैचट ब्रेस ड्रिलिंग मशीन (Ratchet Drilling Machine)

Drilling Machine in hindi

ड्रिलिंग करने की यह एक पुरानी विधि है। इस मशीन में प्रायः फ्लैट या टेपर गैंक (Square Taper Shank) ड्रिल प्रयोग में लाए जाते हैं। इस मशीन पर भी हैण्ड ड्रिलिंग मशीन की अपेक्षा बड़े साइज के सुराख किए जाते हैं। इस मशीन का प्रयोग अधिकतर रेलवे लाइन, गार्डर फेब्रिकेशन (Fabrication) आदि कार्यों में वहाँ पर किया जाता है जहाँ बिजली मिलना सम्भव न हो। 

4. इलैक्ट्रिक हैंड ड्रिलिंग मशीन (Electric Hand Drilling Machine) 
Drilling Machine in hindi

ये विद्युत द्वारा चलाई जाने वाली पोर्टेबल (Portable) ड्रिलिंग मशीन है। यह ए.सी. (A.C.) और डी.सी. (D.C.) दोनों करन्ट के लिए कार्यान्वित रहती है। इसकी स्पीड दूसरे प्रकार की हैण्ड ड्रिलिंग मशीनों की अपेक्षा बहुत अधिक होती है तथा इसके द्वारा आसानी से कहीं भी सुराख किया जा सकता है। 

ये दो प्रकार की होती हैं : –

1. लाइट ड्यूटी (Ligth Duty) 

2. हैवी ड्यूटी (Heavy Duty)

1. लाइट ड्यूटी (Light Duty) – इसे पिस्टल टाइप (Pistol Type) ड्रिलिंग मशीन भी कहते हैं। इस मशीन के चक्क में 13 मिमी. साइज तक के ड्रिल को पकड़ कर सुराख किए जा सकते हैं। 

2. हैवी ड्यूटी (Heavy Duty) – इसमें 25 मिमी. साइज तक के ड्रिल पकड़ें जा सकते हैं। ड्रिलिंग के अतिरिक्त कई दूसरे ऑपरेशन जैसे ग्राइंडिंग (Grinding), सेंन्डिग (Sanding) आदि भी कर सकते हैं क्योंकि इस मशीन की स्पीड लाइट ड्यूटी की अपेक्षा कम होती है।

5. न्यूमैटिक ड्रिलिंग मशीन (Pneumatic Drilling Machine)
Drilling Machine in hindi

इस प्रकार की ड्रिलिंग मशीन हवा के प्रैशर से चलती है। इसका प्रयोग अधिकतर समुद्री जहाजों की मरम्मत के लिए किया जाता है क्योंकि विद्युत चलित ड्रिलिंग मशीन पानी के अन्दर काम नहीं कर सकती अथवा इन्हें ऐसे स्थानों पर भी काम में लाते हैं जहाँ विद्युत उपलब्ध न हो।

FAQ Question

Q.1 ड्रिलिंग क्या होता है ?

Ans- ड्रिलिंग वह विधि है जिससे किसी भी वस्तु में ड्रिल की सहायता से सुराख किया जाता है। 

Q.2 ड्रिलिंग मशीन क्या होता है ?

Ans- धातु चाहे कितनी भी नर्म क्यों न हो, परंतु यह सम्भव नहीं है कि अकेले ड्रिल से ही हम सुराख कर सकें। इसलिए किसी-न-किसी डिवाइस की आवश्यकता पड़ती है।

Q.3 ड्रिलिंग मशीन कितने प्रकार के होते है ?

Ans- ये दो प्रकार की होती हैं
1. पोर्टेबल ड्रिलिंग मशीन (Portable Drilling Machine)
2. फिक्सड ड्रिलिंग मशीन (Fixed Drilling Machine)

Q.4 पोर्टेबल ड्रिलिंग मशीन कितने प्रकार के होते है ?

Ans- पोर्टेबल ड्रिलिंग मशीन के प्रकार (Types of Portable Drilling Machine) 
1. हैंड ड्रिलिंग मशीन (Hand Drilling Machine)
2. ब्रैस्ट ड्रिलिंग मशीन (Breast Drilling Machine)
3. रैचेट ब्रेस ड्रिलिंग मशीन (Ratchet Brace Drilling Machine)
 4. इलैक्ट्रिक हैंड ड्रिलिंग मशीन (Electric Hand Drilling Machine)
 5. न्यूमैटिक हैंड ड्रिलिंग मशीन (Pneumatic Hand Drilling Machine)

Q.5 न्यूमैटिक ड्रिलिंग मशीन क्या होता है ?

Ans- इस प्रकार की ड्रिलिंग मशीन हवा के प्रैशर से चलती है।

Q.6 न्यूमैटिक ड्रिलिंग मशीन प्रयोग कहा किया जाता है ?

Ans- इसका प्रयोग अधिकतर समुद्री जहाजों की मरम्मत के लिए किया जाता है।

Q.7 रैचट ब्रेस ड्रिलिंग मशीन क्या होता है ?

Ans- ड्रिलिंग करने की यह एक पुरानी विधि है। इस मशीन में प्रायः फ्लैट या टेपर गैंक (Square Taper Shank) ड्रिल प्रयोग में लाए जाते हैं। इस मशीन पर भी हैण्ड ड्रिलिंग मशीन की अपेक्षा बड़े साइज के सुराख किए जाते हैं।

Q.8 रैचट ब्रेस ड्रिलिंग मशीन का प्रयोग कहा होता है ?

Ans- इस मशीन का प्रयोग अधिकतर रेलवे लाइन, गार्डर फेब्रिकेशन (Fabrication) आदि कार्यों में वहाँ पर किया जाता है जहाँ बिजली मिलना सम्भव न हो। 

Q.9 ब्रैस्ट ड्रिलिंग मशीन क्या होता है ?

Ans- ये भी आकार में हैंड ड्रिलिंग मशीन से मिलती-जुलती है। अन्तर केवल इतना है कि इसमें हैंडल के स्थान पर एक  अर्द्धगोल प्लेट लगी होती है जिसे सुराख करते समय छाती के साथ सटा कर दबाव दिया जाता है।

ये भी पढ़े …….


1- पेंचकस (Screw Driver) किसे कहते है ?

2- प्लायर्स (Pliers) किसे कहते है ?

3- वाइस (Vice) किसे कहते है

4- Math’s Formula pdf

5- Algebra Formula

6- Vernier Height Gauge working principle

7- Zero Error| माइक्रोमीटर की शून्य त्रुटि

8 – ITI Mcq Pdf Downloads all Trads click hear…..