सरफेस प्लेट (Surface Plate)

ITI Question Bank

सरफेस प्लेट (Surface Plate) के प्रकार (Type)

परिचय (Introduction) -सरफेस प्लेट प्रायः वर्गाकार या आयताकार आकार की बनी होती है। इसका अधिकतर सत् प्रयोग जॉब की सरफेस को चैक करने के लिये किया जाता है। छोटे-छोटे जॉबों पर मार्किंग करने के लिए भी प्रयोग किया जा सकता है।

भारतीय स्टैण्डर्ड (B.I.S) के अनुसार चित्र 3.20 सरफेस प्लेट (Surface Plate) प्रायः 50 x 50 से.मी. और मोटाई 2.5 से 5.0 से.मी., 100 -100 से.मी. और मोटाई 5.0 से 7.5 से.मी. वाली सरफेस प्लेटें प्रयोग में लाई जाती है।

इसके अतिरिक्त 15 x 10 से.मी. से 100 x 75 से.मी. तक और इससे बड़े साइज में भी सरफेस प्लेटें पाई पाई जाती हैं।

मेटीरियल (Material) – मेटीरियल के अनुसार सरफेस प्लेटें निम्नलिखित होती हैं

कास्ट ऑयरन सरफेस प्लेट (Cast Iron Surface Plate) – यह क्लोज्ड ग्रेन कास्ट ऑयरन (Closed Grain Cast Iron) से बनाई जाती है। इसकी दो साइडों पर एक दूसरे के विपरित दो हैंडल लगे होते हैं बड़े साइज की सरफेस प्लेटों को स्टैण्ड पर फिट किया जाता है।

ग्रेनाइट सरफेस प्लेट (Granite Surface Plate)– यह एक प्रकार के पत्थर से बनाई जाती है जिसे ग्रेनाइट कहते हैं। इस पर जंग नहीं लगता और उष्मा और ताप का भी प्रभाव नहीं पड़ता। कार्य करते समय इस पर स्क्रैच (Scratch) भी पड़ जायें तो इसकी शुद्धता में अंतर नहीं आता। कार्य के अनुसार ये कई आकारों और साइजों में पाई जाती है।

ग्लास सरफेस प्लेट (Glass Surface Plate) – यह शीशे की बनी होती है जिसका प्रयोग छोटे कार्यों के लिये किया जाता है। इस पर जंग नहीं लगता। कार्य के अनुसार ये कई आकारों और साइजों में पाई जाती हैं।

विवरण (Specification) – कास्ट ऑयरन सरफेस प्लेटों को उनकी लंबाई, चौड़ाई, ग्रेड और इंडियन स्टैण्डर्ड नंबर के अनुसार निर्दिष्ट किया जाता है जैसे-कास्ट ऑयरन सरफेस प्लेट 2000 x 1000 मि.मी. ग्रेड-1-IS:22851

ग्रेड (Grade) -सरफेस प्लेट प्रायः ग्रेड 1,2 और 3 में पाई जाती है। ग्रेड 1 वाली सरफेस प्लेट अपेक्षाकृत अधिक प्रयोग में लाई जाती हैं।

सरफेस प्लेट (Surface Plate) के प्रकार (Type)

वर्कशाप सरफेस प्लेट (Workshop Surface Plate) -इस प्रकार की सरफेस प्लेट प्रायः वर्कशाप में साधारण कार्यों के लिये प्रयोग में लाई जाती है। इस सरफेस प्लेट की शुद्धता 0.025 मि.मी. होती है।

इंस्पेक्शन सरफेस प्लेट (Inspection Surface Plate) -इस प्रकार की सरफेस प्लेट का प्रयोग वर्कशाप सरफेस प्लेट को चैक करने के लिये किया जाता है। इसकी शुद्धता वर्कशाप सरफेस प्लेट से अधिक होती हे जो कि 0.0025 मि.मी. होती हैं।

मास्टर सरफेस प्लेट (Master Surface Plate) -इस प्रकार की सरफेस प्लेट की शुद्धता इंस्पेक्शन सरफेस प्लेट की अपेक्षा बहुत अधिक होती है। इनका प्रयोग इंस्पेक्शन सरफेस प्लेट को चैक करने के लिये किया जाता है। इस की शुद्धता 0.00025 मि.मी. होती हैं।

सरफेस प्लेट (Surface Plate) के प्रकार (Type)

सरफेस प्लेट पर जॉब की सरफेस टेस्ट करने की विधि (Method of Testing Job’s Surface on Surface Plate)

जॉब की सरफेस को रेती के द्वारा फिनिश करने के बाद उसकी सरफेस को सरफेस प्लेट के द्वारा चैक किया जा सकता है। ऐसा करने के लिये सरफेस प्लेट पर प्रशियन ब्लू की पतली तह लगा देनी चाहिये और जॉब की सरफेस को उस पर रगड़ना चाहिये।

इससे जॉब की सरफेस जहां-जहां पर ऊंची होगी वहां पर प्रशियन ब्लू के निशान आ जायेंगे। इन निशानों को स्क्रैपर के द्वारा खुरच कर साफ किया जाता हैं। इस प्रकार यह क्रिया तब तक करते रहना चाहिये जब तक पूरी सरफेस पर प्रशियन ब्लू के निशान न आ जाये। इस प्रकार जॉब की सरफेस को सरफेस प्लेट पर टेस्ट किया जा सकता है।

सावधानियां (Precautions)

1. सरफेस प्लेट पर कटिंग टूल्स को नहीं रखना चाहिये जिससे उसकी सरफेस की शुद्धता खराब हो सकती है। 

2. यदि सरफेस प्लेट का प्रयोग न किया जा रहा हो तो उसके ऊपर तेल की पतली तह लगाकर उसे लकड़ी के ढक्कन से ढक देना चाहिये।

3. कभी भी जॉब को सरफेस प्लेट पर रखकर पंचिंग नहीं करनी चाहिये।

सरफेस प्लेट (Surface Plate) के प्रकार (Type)

Some Note’s

1 – What is the fitter ?

2 – Least Count सूक्ष्ममापी यंत्र (Precision Instrument)

3- ITI Electricians  Short Important Question in Hindi 2021

4 – ITI Employability skill’s 2021